मिलने लगे मॉनसून की बिदाई के संकेत!

 

पड़ने लगी ओस, बदल रहा मौसम का मिजाज

(महेश रावलानी)

सिवनी (साई)। आसमान साफ होने के साथ ही रात में ओस गिरना आरंभ हो गयी है। एक पश्चिमी विक्षोभ जम्मू-कश्मीर पहुँचने जा रहा है। ये मॉनसून की बिदाई के संकेत माने जा रहे हैं। वैसे अभी मॉनसून की बिदाई के लिये एक पखवाड़े का समय बाकी है।

इस बार जिले मेें पिछली बार से ज्यादा बारिश तो हुई है पर अब तक शहर को मॉनसून ने महज एक दो बार ही तरबतर किया है। संभवतः यह पहला मौका होगा जबकि भीमगढ़ बाँध के गेट इस बारिश के सीजन में नहीं खोले गये। सामान्य तौर पर सितंबर माह में मॉनूसन के लौटने का समय माना जाता है।

बारिश के थमते ही मौसम में बदलाव भी महसूस किया जाने लगा है। दिन में सूर्यनारायण की तल्खी से गर्मी तो रात में ओस की बूंदे आने से अब दिन में लोग बेचैन लग रहे हैं। देर रात को सुकून अनुभव कर रहे हैं। मौसम में हुआ अचानक बदलाव लोगों की सेहत पर भी असर डाल रहा है। सर्दी, खांसी, तेज बुखार, बदन दर्द और कफ के मरीजों की तादाद में इजाफा दर्ज हुआ है।

मौसम विभाग के सूत्रों ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया को बताया कि फिलहाल बादल तो रहेंगे पर इनके बरसने की उम्मीद बहुत ही कम है। अगर बारिश हुई भी तो महज एक दो इंच बारिश ही आने वाले दिनों में दर्ज की जा सकती है। सूत्रों ने बताया कि राजस्थान की ओर एक सिस्टम अवश्य बनता दिख रहा है पर यह क्या गुल खिलायेगा यह अभी बताना मुश्किल ही है।

अमूमन गणेश चतुर्थी पर बारिश होती आयी है पर सालों बाद यह पहला ही मौका होगा जब गणपति बप्पा की आगवानी में भक्त बिना गीले हुए ही नाचते गाते, जयकारे लगातेे नजर आये।

सूत्रों ने कहा कि आने वाले समय में बंगाल की खाड़ी में एक कम दबाव का क्षेत्र बनने की संभावना है। उसके प्रभाव से हल्की बरसात की उम्मीद की जा सकती है। 14 से 20 सितंबर के बीच बंगाल की खाड़ी में एक कम दबाव का क्षेत्र बनने की पूरी संभावना है, लेकिन इससे सिवनी में अच्छी बरसात होने के आसार कम ही रहेंगे। वैसे अब सिवनी में 01 जून से 30 सितंबर तक मॉनसून का सीजन माना गया है।

 

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *