प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना बनी छलावा!

 

 

बीमा की राशि के लिये चक्कर काट रही है महिला

(मुकेश सुपलभक्त)

छपारा (साई)। पति की मौत के बाद बीमा की राशि पाने के लिये महिला, सेन्ट्रल बैंक शाखा छपारा और प्रशासन के चक्कर काटते हुए परेशान हो रही है लेकिन छः माह से अधिक का समय बीत जाने के बाद भी उसे सहायता नहीं मिल पा रही है। परिवार के कमाऊ सदस्य के असमय गुजर जाने के बाद परिवार की स्थिति बेहद खराब है।

यह है मामला  : मंगलवार को कलेक्टर की जन सुनवायी में आवेदन देते हुए छपारा की रहने वाली महिला संगीता अहिरवार (35) पति स्व. सुभाष अहिरवार ने बताया है कि उनके पति सुभाष की मौत सिर में बल्ली लगने से आयी गंभीर चोट के बाद नागपुर के मेडिकल कॉलेज में उपचार के दौरान पाँच मई 2018 को मौत हो गयी थी।

पीड़िता ने बताया कि उसके पति मोची का काम करते हुए परिवार का पालन किया करते थे। महिला के पास जमीन जायजाद चल अचल संपत्ति कुछ नहीं है। पति की मौत के बाद परिवार में पत्नि के अलावा पाँच नाबालिग पुत्रियां और एक चार साल का बेटा व विकलांग ननंद है। पति की मौत के बाद से महिला किसी तरह मजदूरी आदि करके अपने परिवार का भरण पोषण कर रही है।

सेन्ट्रल बैंक में है खाता : महिला ने बताया कि उसके पति सुभाष का जमाखाता सेंट्रल बैंक में है। सुभाष ने अपने परिवार के लिये प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा भी करवाया हुआ था, जिसकी वार्षिक किश्त के 12 रूपये भी हर साल काटे जाते थे। पति की मौत के बाद महिला ने आवश्यक सभी कागजात तैयार कर सेन्ट्रल बैंक में प्रस्तुत किये और बीमा राशि दो लाख रूपये की माँग की।

महिला का कहना है कि उसने बैंक और बीमा कंपनी के द्वारा माँगे गये सारे कागजात जिसमें मृतक का बैंक खाता, बीमा पॉलिसी डिटेल, खाता का बैंक स्टेटमेंट, मृतक का मृत्यु प्रमाण पत्र, मृतक की मृत्यु का कारण पुलिस थाना रिपोर्ट, मर्ग रिपोर्ट, हॉस्पिटल रिपोर्ट, हॉस्पिटल की डिस्चार्ज रिपोर्ट, पुलिस प्राथमिकी की नक़ल पोस्ट मार्टम रिपोर्ट, बीपीएल राशन कार्ड, समग्र आईडी, मृतक का आधार कार्ड, वोटर कार्ड, जॉब कार्ड, बैंक खाता में नॉमिनी का आधार कार्ड, बैंक खाता में बीमा पॉलिसी कार्ड, आदि आवेदन के साथ शपथ पत्र भी उपलब्ध करा दिये हैं लेकिन बैंक और कंपनी उसे लगातार गुमराह कर रही हैं।

महिला का कहना है कि संबंधितों को आदेशित कर उसे शीघ्र सहायता दिलायी जाये ताकि वह कोई काम काज कर परिवार का पालन पोषण अच्छी तरह से कर सके।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *