पुलिस ने फिर पकड़े 33 नग मवेशी

 

मवेशियों के अवैध परिवहन हेतु दल का हो गठन!

(मनीष तिवारी)

लखनादौन (साई)। जिले में पुलिस की सक्रियता के चलते अवैध रूप से मवेशियों के परिवहन के अनेक मामले सामने आ रहे हैं। जिले में लखनादौन पुलिस के द्वारा अवैध रूप से परिवहन किये जा रहे मवेशियों के वाहनों पर विशेष नजर रखी जा रही है।

गत दिवस मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने ट्रक क्रमाँक एमपी 04 टीडब्ल्यू 5319 में क्रूरता पूर्वक भर कर कत्लखाने नागपुर की ओर जा रहे 33 मवेशियों को मुक्त कराया। थाना प्रभारी एम.डी. नागोतिया ने बताया कि यह कार्रवाई मड़ई एवं सहजपुरी के जंगलों के बीच फोरलेन पर की गयी है।

उन्होंने बताया कि पुलिस के द्वारा घेराबंदी कर जबलपुर की ओर से आ रहे एक ट्रक को रोक कर उसकी जाँच करने पर ट्रक में गाय, बैल, बछिया, नाटा सहित कुल 33 नग मवेशियों को क्रूरता पूर्वक परिवहन करते हुए पाया गया। उन्होंने बताया कि मवेशियों के पैर और मुँह बंधे हुए थे।

क्रूरता पूर्वक भरकर कत्लखाने ले जाये जा रहे इन पशुओं को बाहर निकालने पर 20 नग गाय, 05 नग बछिया, 06 नग नाटा एवं दो बैल मिले जिसमें एक पशु मृत अवस्था में पाया गया। पुलिस ने पंचनामा तैयार कर आरोपियों के विरुद्ध गौवंश परिवहन निषेध अधिनियम की विभिन्न धाराएं लगाकर मामला पंजीबद्ध कर लिया है।

इसके साथ ही जाँच करने पर ट्रक के केबिन में एक कुप्पी में 15 लीटर नीले रंग का केरोसिन जप्त किया गया एवं ट्रक की डीजल टंकी खोलकर जाँच में डीजल टैंक में मिट्टी तेल की सुगंध आना पाया गया। टैंक से एक लीटर डीजल का सैंपल तैयार करके पंचनामे की कार्यवाही की गयी।

कार्रवाई के दौरान ट्रक का ड्राइवर, ट्रक छोड़कर फरार हो गया जबकि एक व्यक्ति को पुलिस ने पकड़ा जिसने अपना नाम फैयाज खान (25) पिता अयाज खान निवासी हमीद नगर टीपू सुल्तान चौक यशोधरा नगर नागपुर का होना बताया।

इसके पूर्व लखनादौन पुलिस के द्वारा रविवार को 31 नग एवं 01 दिसंबर को एक चार पहिया वाहन में मवेशियों को परिवहन किये जाते हुए पकड़ा गया था।

बनाया जाये विशेष जाँच दल : लोगों का कहना है कि जिले से होकर मवेशियों का अवैध परिवहन लगातार जारी है। पुलिस की सक्रियता से यदा कदा परिवहन में लगे वाहनों को पकड़ा जा रहा है। लोगों ने पुलिस प्रशासन से अपेक्षा व्यक्त की है कि जिला स्तर पर एक विशेष दस्ते का गठन किया जाकर मवेशियों का अवैध परिवहन रोका जाये एवं मेटेवानी जाँच चौकी की कार्यप्रणाली की समीक्षा की जाये कि किस तरह वहाँ से मवेशियों के वाहन सीमा पार कर जाते हैं। सभी संबंधितों की कार्यप्रणाली पर गंभीरता से विचार करते हुए इस तरह के अपराध पर कड़ी नजर रखने की अपेक्षा लोगों के द्वारा की जा रही है।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *