एसपी ने ट्रेनों व स्टेशन का कोना-कोना जांचा

 

(ब्यूरो कार्यालय)

जबलपुर (साई)। ऑटो पर सवार चार संदिग्ध युवकों की गतिविधियां और उनके बीच चल रही बातचीत सुनकर चालक के कान खड़े हो गये। पहले तो वह भयभीत हुआ लेकिन सामाजिक जिम्मेदारी का एहसास करते हुए पुलिस कंट्रोल रूम को फोन लगा दिया। सूचना मिलते ही सैकड़ों जवानों व अधीनस्थ अधिकारियों को साथ लेकर पुलिस अधीक्षक रेलवे स्टेशन पहुंच गये और आने-जाने वाली ट्रेनों, स्टेशन परिसर का कोना-कोना जांचा गया। रविवार देर शाम शुरू हुई कार्रवाई सोमवार सुबह करीब 6 बजे तक जारी रही। कार्रवाई के दौरान एसपी समेत पुलिस कर्मी सादी वर्दी में नजर आए।

यह है मामला-

पुलिस के मुताबिक रविवार शाम करीब 7 बजे एक ऑटो चालक ने पुलिस कंट्रोल रूम को सूचना दी थी कि चार संदिग्ध युवक जबलपुर में किसी बड़े वारदात की चर्चा कर रहे थे। चारों को उसने अपनी ऑटो से बनारस स्टेशन पर छोड़ा था जो मुंबई की ओर जाने वाली ट्रेन में सवार हुए। वे यह चर्चा भी कर रहे थे कि उनके अन्य साथी काम को अंजाम तक पहुंचा देंगे।

सन्न रह गये अधिकारी-

आटो चालक द्वारा दी गई सूचना पाकर पुलिस अधिकारी सन्न रह गए। धनतेरस और दीपावली सामने होने व चुनावी माहौल को देखते हुए उन्होंने सूचना को गोपनीय रखते हुए स्टेशन व ट्रेनों की सर्चिंग का एक्शन प्लान बनाया। करीब 250 जवानों को सादी वर्दी में बुलाया गया। अफसर भी सादी वर्दी में पहुंचे। सभी को रेलवे स्टेशन के चप्पे-चप्पे पर तैनात कर दिया गया। रात्रि करीब 8 बजे से सुबह 6 बजे तक अधिकारी स्टेशन पर डेरा डाले रहे।

यूपी से आई थी सूचना

पुलिस कंट्रोल रूम को किसी वारदात की सूचना दी गई थी। यूपी से सूचना देने वाले से लगातार संपर्क साधते हुए ट्रेनों और स्टेशन पर सघन चेकिंग कराई गई। सुरक्षा के लिहाज से आगामी कुछ दिन बहुत महत्वपूर्ण हैं, इसलिए किसी भी सूचना को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता। सूचनाकर्ता द्वारा दी गई सूचना की तस्दीक कराई गई, लेकिन उसमें सच्चाई सामने नहीं आई। पुलिस की टीमें रेलवे स्टेशन, ट्रेनों व भीड़ वाले क्षेत्रों में नजर रखे हुए है।

अमित कुमार सिंह,

पुलिस अधीक्षक.

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *