चुनाव ड्यूटी में बाराती बनकर नहीं आयें अफसर!

 

आयोग के निर्देश से अफसर सकते में!

(ब्यूरो कार्यालय)

भोपाल (साई)। प्रदेश में विधानसभा चुनाव की तारीख के ऐलान के बाद जहां एक तरफ सभी राजनीतिक दल चुनावी अखाड़ें में घमासान करते दिख रहे हैं, वहीं आयोग भी पूरी तरह कमर कस के चुनावी तैयारियों में जुट गया है।

चुनाव में ड्यूटी लगाए जाने वाले सभी अधिकारियों के कामकाज का खाका तैयार किया जा चुका है। किसको, कहाँऔर कौनसी जिम्मेदारी सौंपी जानी है यह भी लगभग तय है। अफसरों को प्रदेशभर के पोलिंगबूथ की जिम्मेदारी दी जायेगी इसलिये उन्हें ड्यूटी पर आने के दौरान कुछ ज़रूरी इस्तेमाल का सामान साथ लाने की हिदायत की गयी है। इसमें खास बात यह है कि, चुनाव आयोग ने अधिकारियों को जिस ज़रूरी सामान की लिस्ट साथ लाने को कहा है, वह इस समय सोशल मीडिया पर काफी चर्चा में हैं।

सोशल मीडिया पर वायरल हुई लिस्ट : चुनाव आयोग द्वारा जारी सामान की लिस्ट में अधिकारियों से दीगर सामान के साथ यह भी कहा गया है कि, वह अपनी अंडरवियर भी साथ लाएं। हालांकि, आयोग द्वारा याद्देहानी के लिये अफसरों को यह निर्देश दिये गये हैं, कि उस महत्वपूर्म समय किसी चीज़ की समस्या अफसरों के सामने ना आये, लेकिन सोशल मीडिया पर इस समय यह लिस्ट काफी हास्यास्पद प्रतिक्रियाएं प्राप्त करते हुए जमकर वायरल हो रही है।

आयोग ने जारी की थी गाईड लाइन : सूत्रों से पता चला है कि, चुनाव आयोग ने प्रदेश के सभी अफसरों को उनके साथ कुछ ज़रूरत का सामान अपनी ड्यूटी के दिनों के लिये साथ लो को कहा है। लिस्ट में पुरूष और महिलाओं के लिये अलग अलग सामान कैरी करने की गइडलाइन जारी की गयी है। इसमें पुरुषों की ज़रूरत के 22 सामान बताये गये हैं। हालांकि, महिलाओं को क्या सामान ले जाना है उसकी जानकानी अब तक सार्वजनिक नहीं की गयी है। इनमें से कुछ व्यक्तिगत सामान है तो कुछ सामान चुनाव संबंधित है।

ये सामान साथ रखने की दी गयी थी हिदायत : अधिकारियों को जो व्यक्तिगत सामान साथ लाने को कहा गया है उसमें छोटी टार्च, साबुन, दवा, ग्लूकोज, बिस्किट, टूथ ब्रश पेस्ट, बालों का तेल, कंघा, तोलिया, बेडशीट, कंबल, रात को सोने के कपड़े। लिस्ट में कैश, अंडरवियर, मोजे, मच्छर मारने की दवा, माचिस, वाटर बोटल, पानी का ग्लास और चम्मत रखने के लिये कहा गया है। इसके अलावा ड्यूटी लेटर की एक्सट्रा फोटोकॉपी, पेन, फोन चार्जर, पॉवर बैंक, सादे कागज, भी रखने को कहा गया है।

इन निर्देशों का हो सख्ती से पालन : ड्यूटी अफसरों को उनकी ड्यूटी के दौरान किसी भी अफसर से बात करने और चुनाव संबंधित सामान किसी और के साथ साझा नहीं करने की सलाह दी गयी है। गाइडलाइन में यह भी कहा गया है कि किसी भी परिस्थिति में वे मतदाता सूची स्थानीय लोगों को नहीं दिखाएंगे। उन्हें इन निर्देशों का सख्ती से पालन करना होगा।

 

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *