आरटीई : पालक के पास मोबाईल अनिवार्य

 

(इसरार खान)

भोपाल (साई)। गरीब, अनाथ और विमुक्त जाति के बच्चों को शिक्षा का अधिकार अधिनियम के तहत निजि स्कूलों में प्रवेश तभी मिलेगा जब उनके अभिभावकों के पास मोबाईल होगा। यदि मोबाईल नहीं तो प्रवेश भी नहीं मिल पायेगा।

ज्ञातव्य है कि आरटीई के तहत गरीब वर्ग जिनकी महीने की आय बहुत कम है उनके बच्चों को निजि स्कूलों की 25 प्रतिशत रिजर्व सीट में प्रवेश दिये जाने का नियम है। बावजूद इसके ऐसे गरीबों के पास भी मोबाईल होना आवश्यक कर दिया गया है। आरटीई के तहत ऑनलाईन आवेदन फॉर्म भरने के दौरान आवेदकों को मोबाईल नंबर भी भरना होगा, तभी आवेदन आरटीई पोर्टल में लॉक होगा।

शिक्षा विभाग के उच्च पदस्थ सूत्रों ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया को बताया कि बिना मोबाईल नंबर के आवेदन ही रिजेक्ट हो जायेगा। राज्य शिक्षा केंद्र ने इस संबंध में बकायदा पूरा सकुर्लर जारी किया है। ऑनलाईन सेंटर पर जब फॉर्म भरने जाते हैं तो वे बच्चे के अभिभावक से मोबाईल नंबर भी माँग रहे हैं क्योंकि पोर्टल पर दिये फॉरमेट में मोबाईल नंबर जब तक दर्ज नहीं करते हैं, फॉर्म ओके नहीं होता है।

सूत्रों ने कहा कि आरटीई की गाईड लाईन के तहत वंचित और कमजोर वर्ग के बच्चों के प्रवेश के लिये ऑनलाईन आवेदन फॉर्म में मोबाईल नंबर दर्ज करना आवश्यक है। इसी नंबर पर उन्हें ओटीपी आयेगा और एसएमएस कर स्कूल आवंटन की सूचना दी जायेगी। इस सुविधा से सीधे आवेदन करने वालों को जानकारी मिलेगी।

इसलिये आवश्यक है मोबाईल : सूत्रों ने बताया कि आरटीई के तहत बच्चों को प्रवेश दिलाने 28 मई से 23 जून तक ऑनलाईन प्रवेश फॉर्म भरने की प्रक्रिया आरंभ हो चुकी है। प्रवेश के लिये आरटीई पोर्टल में ऑनलाईन प्रवेश फॉर्म भरना होगा। इसमें खुद का चालू मोबाईल नंबर भी दर्ज करना होगा। फॉर्म भरने के बाद मोबाईल नंबर पर तत्काल पासवर्ड आयेगा। फॉर्म को सेव करने के लिये यही ओटीपी (वन टाईप पासवर्ड) डालना होगा, तभी फॉर्म सेव होगा।

 

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *