कांग्रेस और गांधी परिवार पर बरसे मोदी

 

(शंटी आनंद)

मुक्तसर (साई)। पंजाब के मुक्तसर में किसान कल्याण रैली के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने केंद्र सरकार के फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य बढ़ाने के फैसले से किसानों को होने वाले फायदे गिनाए। इस दौरान पीएम ने कांग्रेस और गांधी परिवार को जमकर निशाने पर लिया।

किसानों को संबोधित करते हुए उन्होंने वर्ल्ड बैंक की ईज ऑफ डूइंग बिजनस पर रिपोर्ट का जिक्र किया और पंजाब के लोगों से कहा कि वह चाहते हैं कि राज्य सरकार से पूछा जाए कि वर्ल्ड बैंक की रिपोर्ट में पंजाब कहां पिछड़ गया। उन्होंने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल जहां छोड़कर गए थे वहां से राज्य नीचे गिरता जा रहा है।

उन्होंने पंजाब की अमरिंदर सरकार को घेरते हुए कहा, ‘उनसे पूछो इतने कम समय में पंजाब का क्या हाल करके रख दिया।बादल को किसान समर्पित नेता बताते हुए उन्होंने कहा कि वह किसानों को जानते हैं, उनकी समस्या का समाधान जानते हैं और मार्गदर्शन करते हैं। उन्होंने कहा कि बीते चार वर्षों से देश के किसान अन्न भंडारों को रेकॉर्ड पैदावार से भर रहे हैं। गेहूं, धान, चीनी, कपास, दालों सभी के उत्पादन के पिछले सारे रेकॉर्ड टूट रहे हैं। उन्होंने अनुमान जताया कि इस साल भी नए रिकॉर्ड बनने वाले हैं।

कांग्रेस पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि 70 वर्षों में अधिकतर बार जिस पार्टी पर देश के किसानों ने देश को ऊपर उठाने की जिम्मेदारी दी थी, उसने किसानों की मेहनत को इज्जत नहीं दी। उन्होंने गांधी परिवार पर परोक्ष रूप से हमला बोलते हुए कहा, ‘वादे किए गए लेकिन सिर्फ एक परिवार की चिंता की गई, उसके सुख की परवाह की गई।

उन्होंने कांग्रेस पर किसानों के लिए अवैज्ञानिक तरीकों से योजनाएं बनाने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि खुद के परिवार के लिए बेहतरीन योजनाएं बनाई गईं। उन्होंने कांग्रेस पर किसानों से झूठ बोलने और धोखा देने का आरोप लगाते हुए कहा, ‘मैं जानता हूं कि इतने वर्षों तक लागत को 10 प्रतिशत के लाभ तक सीमित क्यों रखा गया। कांग्रेस ने किसान से धोखा किया, झूठ बोला। सशक्तीकरण नहीं वोट बैंक बनाने के लिए राजनीति की।

पीएम मोदी ने रैली के दौरान कहा कि बीजेपी ने 1.5 गुना MSP का वादा किया था, जिसे संकल्प के तौर पर पूरा किया गया। उन्होंने कहा कि हमने तय किया कि 2022 तक किसानों की आय को दोगुना करने की कोशिश करेंगे। पीएम ने बताया कि बीते चार वर्षों में इसी दिशा में प्रयास हो रहे हैं और बीज से बाजार तक व्यापक रणनीति के तहत काम हो रहा है।

जनसभा में बोलते हुए उन्होंने अगले साल गुरुनानक देवजी के 550वें प्रकाशवर्ष का जिक्र किया और कहा कि यह हमारे लिए प्रेरणा पर्व है। उन्होंने कहा कि गुरुनानक देव जी ने पूरी मानवता को रास्ता दिखाया और उनके हक में आवाज उठाई।

 

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *