अमरूद के ताजे पत्तों से करें छालों का उपाय

 

कब्ज और पेट की गर्मी के कारण अक्सर मुँह में छाले हो जाते हैं। छाले होने पर कुछ भी खाना – पीना व निगलना बहुत मुश्किल हो जाता हे। छाले जीभ पर हो जायें तो बहुत असहनीय हालत हो जाती है।

आयुर्वेद चिकित्सकों के अनुसार नारियल के तेल को पानी में मिलाकर गलगला करने से मुँह के छाले दूर होते हैं। मुँह के छाले दूर करने के और भी कई घरेलू उपचार हैं। इसमें सूखे पान के पत्ते का चूर्ण बनाकर इस चूर्ण को शहद में मिलाकर दिन में तीन-चार बार चाटना चाहिये।

चिकित्सकों के अुनसार शहद में मुलहठी का चूर्ण मिलाकर इसका लेप मुँह के छालों पर करें और लार को मुँह से बाहर टपकने दें। छोटी हरड़ को महीन पीसकर छालों पर लगाने से मुँह तथा जीभ के छालों से निश्चित रूप से छुटकारा मिलता है। इसे दिन में दो-तीन बार लगायें।

चिकित्सकों के अनुसार पान लगाने वाले कत्थे को मुँह के छालों में लगाने से जल्द लाभ मिलता है। अमरूद के ताजे पत्तों में कत्था मिलाकर पान की तरह चबाने से भी मुँह के छाले ठीक हो जाते हैं। दिन में तीन-चार बार शुद्ध घी या मक्खन को मुँह के छालों में लगाना चाहिये। मिश्री को बारीक पीसकर उसमें थोड़ा सा कपूर मिलाकर छालों में लगाने से भी आराम मिलता है। नींबू के रस में शहद मिलाकर इसके कुल्ले करने से भी मुँह के छाले दूर होते हैं।

(साई फीचर्स)

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *