नेहरू रोड क्यों नहीं हो पा रही व्यवस्थित

 

 

सिवनी की सबसे प्रमुख माने जाने वाली नेहरू रोड पर इन दिनों अव्यवस्थाओं का आलम पसरा हुआ है और इसी अव्यवस्थित नेहरू रोड से होकर लोग गुजर रहे हैं। इस तरह की व्यवस्था से ही मुझे शिकायत है।

दरअसल यह भी नहीं कहा जा सकता कि नेहरू रोड की दुर्दशा प्रशासन की नजर से छुपी हुई है। शायद यही कारण भी है कि इस नेहरू रोड को पूर्व में वन-वे घोषित किया जा चुका है लेकिन इसका पालन करवाने में संबंधित विभागों को पसीना छूटता ही दिख रहा है। इस रोड पर दोनों दिशाओं ही नहीं बल्कि प्रत्येक दिशाओं से यातायात आता है। स्थिति यह है कि कई लोगों को तो वर्तमान में अब यह मालूम भी नहीं होगा कि नेहरू रोड को वन-वे घोषित किया जा चुका है।

संभव है कि यातायात के सिपाही भी इस बात से अनभिज्ञ ही होंगे कि नेहरू रोड को पूर्व में एकाकी मार्ग घोषित किया जा चुका है। वर्तमान में इस मार्ग पर दो पहिया वाहन तो दूर की बात है, चार पहिया वाहन भी दिन भर रेंगते नजर आते हैं जिसके कारण यह मार्ग जाम जैसी स्थितियों को भुगतता रहता है।

प्रशासन यदि इसे वन-वे के रूप में स्थापित नहीं करवा पा रहा है तो उसके द्वारा इस नेहरू रोड के दोनों ओर फैले पक्के अतिक्रमणों को हटाये जाने की पहल की जाना चाहिये। बार-बार कई समाचार माध्यमों में प्रशासन के संज्ञान में इस बात को अच्छे से लाया जा चुका है कि नेहरू रोड पर पसरे पक्के अतिक्रमणों ने इस मार्ग की हालत अत्यंत दयनीय बनाकर रख दी है। वाहन चालकों के पास सड़क किनारे कोई स्थान शेष नहीं मिलता है जिसके कारण वाहन चलाते समय के अलावा उनके समक्ष पार्क करने की समस्या भी उत्पन्न हो जाती है।

नेहरू रोड को एकाकी मार्ग घोषित किये जाने के बाद भी यातायात विभाग का कोई सिपाही न तो शुक्रवारी वाले सिरे पर नजर आता है और न ही नगर पालिका वाले स्थान पर। अलबत्ता यदा-कदा नगर पालिका के सामने यातायात विभाग में पदस्थ होमगार्ड सैनिक जरूर नजर आ जात है लेकिन यातायात विभाग के सिपाही को इस स्थान पर यातायात सम्हालते हुए लंबे समय से नहीं देखा गया है।

सवाल यह उठता है कि यदि यातायात विभाग का कोई सिपाही यहाँ पर हमेशा तैनात नहीं रहेगा तो वन-वे रोड के नियमों का उल्लंघन करने वाले वाहन चालकों पर रोक किसके द्वारा लगायी जायेगी और इस तरह की कार्यवाही नहीं की जायेगी तो लोगों में जागरूकता स्वतः आना निकट भविष्य में संभव भी नहीं दिख रहा है। यह मार्ग शुक्रवारी जैसे महत्वपूर्ण स्थल को जी.एन. रोड से सीधे-सीधे जोड़ता है इसलिये इस तरफ ध्यान दिया जाना आवश्यक है।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *