जींस की जिप पर क्यों लिखा होता है वायकेके?

 

 

 

 

आज हम बात करेंगे जींस की जिसे मर्द से लेकर औरत तक हर कोई पहनता है। रोज़ पहनने वाली इस चीज की जिप पर आपने कभी ध्यान दिया है? ज्यादातर जींस की जिप पर वायकेके क्यों लिखा होता है।

नई दिल्ली। इस दुनिया में जो कुछ भी होता है उसका कोई न कोई मतलब ज़रूर होता है लेकिन दौड़ भाग भरी इस ज़िंदगी में लोगों का ध्यान बड़ी-बड़ी चीजों पर नहीं जाता तो छोटी-मोटी चीजों पर ध्यान कहां से जायेगा लेकिन कई बातें ऐसी भी हैं जिनके बारे पता होना ज़रूरी होता है।

हमारी रोजमर्रा की ज़िन्दगी में ऐसी कई चीजें हैं जिन पर हमारा कभी ध्यान नहीं जाता। आज हम बात करेंगे जींस की जिसे मर्द से लेकर औरत तक हर कोई पहनता है। रोज़ पहनने वाली इस चीज की जिप पर आपने कभी ध्यान दिया है? ज्यादातर जींस की जिप पर ल्ज्ञज्ञ क्यों लिखा होता है।

लगभग 71 देशों में इसी नाम की जींस की जिप देखने को मिलती हैं। असल में ल्ज्ञज्ञ का फुलफॉर्म योशिदा कोग्यो काबुशिकीगैशा होता है। यह दुनिया की सबसे पहली ज़िप निर्माता कंपनी है। इस कंपनी का पूरी दुनिया में लगभग आधे जिप बनाने के योगदान है। वायकेके के मालिक टोक्यो के एक व्यापारी हैं। टाडो याशोदा नाम के शख्स ने ही इस कंपनी को बनाया था।

दिखने में छोटी यह चीज लोगों के लिये इतनी उपयोगी होगी इस बात का अंदाज़ा भी नहीं लगाया जा सकता। बता दें कि चेन के अलावा वायकेके कपड़ों और बैग में लगने वाले और भी उत्पाद बनाती है। 1934 में जिप के मार्किट में आने की वजह से लाखों लोगों के रोज़गार भी मिला। वायकेके की सबसे बड़ी फैक्ट्री जॉर्जिया, अमरीका में स्थापित की गयी है। यहाँ हर रोज़ 70 लाख ज़िप बनकर तैयार होती हैं।

(साई फीचर्स)

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *