मृत्यु शय्या पर लेटे व्यक्ति के पास इन चार चीजों में से रख दें . . .

 

 

 

 

धरती पर जन्म लिए हुए हर एक जीव को एक न एक दिन यहां से जाना ही होगा। इस दुनिया में कोई अमर नहीं है। जन्म और मरण का यह चक्र चलता ही रहता है। जीव अपने कर्म के आधार पर जन्म लेता है। जन्म लेने के बाद वह अपने खाते में लिखे हुए सुख-दुख का भुगतान करता है।

पुराणों में ऐसी कई सारी बातें लिखी हुई हैं कि मृत्यु के समय यमदूत आत्मा को लेने आते हैं। इसके बाद उन्हें नर्क का दर्शन करवाते हैं। इन सारी बातों का खौफ कई बार लोगों को सताता रहता है। ऐसे में करे तो क्या करें? आज हम आपको चार ऐसी चीजों के बारे में बताने जा रहे हैं जिसे अगर आप अपने पास रख लें तो आपको यमदूत सता नहीं सकेंगे और न ही नर्क का दर्शन करना होगा।

तुलसी

इनमें सबसे पहला नाम आता है तुलसी का। जी हां, हिंदु धर्म में तुलसी किस हद तक महत्व रखती है इस बारे में किसी को बताने की जरुरत नहीं है। तुलसी को भगवान विष्णु का प्रिय माना जाता है। पुराणों में ऐसा कहा गया है कि यदि मौत के वक्त कोई मनुष्य अपने पास तुलसी के पत्तों को रखकर सोए तो यमदूतों का भय नहीं रहता है। मौत के समय होने वाले सारे कष्टों से उसे मुक्ति मिल जाता है।

श्रीमद्भगवद्गीता

दूसरे नंबर पर हम बात करेंगे श्रीमद्भगवद्गीता के बारे में। मृत्यु शय्या पर लेटे हुए व्यक्ति को गीता का पाठ सुनाया जाना चाहिए। इससे आत्मा का शरीर से मोह दूर हो जाता है और शरीर को वह आसानी से छोड़ देती है।

गंगाजल

पुराणों में ऐसा कहा गया है कि मरने से पहले इंसान के मुख मे गंगाजल डालना चाहिए। ऐसा करने से शरीर के साथ साथ आत्मा भी पवित्र हो जाती है। ऐसा भी कहा गया है कि गंगाजल पास रखने से यमदूत आत्मा को न तो नरक के अंदर ले जा सकते हैं और न ही कठोर दंड नहीं दे सकते हैं।

रामायण

गीता के साथ साथ रामायण का भी पाठ सुनना चाहिए। ऐसा कहते हैं कि इंसान मौत के वक्त जैसा सोचता है उसकी गति भी वैसी हो जाती है। अच्छी सोच से उसकी आत्मा स्वर्ग में भी जा सकती है।

(साई फीचर्स)

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *