इस बौद्ध्‍ भिक्षु की साधना की यह है हकीकत

 

अगर थोड़ा सा गरम पानी हमारे शरीर पर पड़ जाता है तो हम तिलमिलाने उठते हैं लेकिन दुनिया में कुछ लोग ऐसे भी हैं जिन्हें गर्म तेल से कारनामे दिखने के लिए जाना जाता हैं। उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद में ऐसे ही एक गजब के हलवाई हैं, जिनका नाम राम बाबू है। राम बाबू में ऐसी खासियत है कि वे खौलते तेल से बिना किसी हिचक के पकौड़े निकाल लेते हैं। लेकिन अगर कोई व्यक्ति खुद ही खोलते तेल में बैठ जाए तो क्या होगा?

यह वाकया हुआ थाईलैंड स्थित नांग बु लपू प्रांत में, जहां लोहे की एक बड़ी सी कड़ाही चढ़ी हुई है। आग की लपटें धधक रही हैं। आग की लपटों के बीच कढ़ाई में तेल के बुलबुले भी दिखाई दे रहे हैं। नीचे आग की लपटों को और तेज किया जा रहा है। खौलते तेल के बुलबुलों के बीच एक बौद्ध भिक्षु साधना में लीन दिखाई दे रहा है। खौलते हुए तेल की कड़ाही में बैठने के बाजवूद इस बौद्ध भिक्षु के शरीर को कोई नुकसान नहीं पहुंचता और यह कुछ समय के लिए नहीं बल्कि ये घंटो इसी तरह कड़ाही में बैठ कर ध्यान करते रहते हैं।

आपको जानकरी के लिए बता दें कई लोगों ने कारनामे की पड़ताल की जिसमें कई तथ्य सामने निकलकर आए हैं, जैसे कि वीडियो में एक बात शक पैदा कर रही थी वो ये कड़ाही देखने में गहरी लग रही है लेकिन बौद्ध भिक्षु जिस तरह से कड़ाही में बैठा हुआ है उसे देखकर नहीं लग रहा कि वो नीचे गहराई तक उसमें बैठा हुआ है ऐसा लगता कि कड़ाही में तेल के अलावा भी कुछ रखा गया है। बता दें कि लोगों का यह भी मानना है की ये भिक्षु शरीर और कड़ाही पर किसी तरह की कोई दावा लगाते हैं। जिसकी वजह से आग का तापमान उसके शरीर पर कोई असर नहीं करता है।

(साई फीचर्स)

अब पाईए अपने शहर की सभी हिन्दी न्यूज (Click Here to Download) अपने मोबाईल पर, पढ़ने के लिए अपने एंड्रयड मोबाईल के प्ले स्टोर्स पर (SAI NEWS ) टाईप कर इसके एप को डाऊन लोड करें . . . आलेख कॉलम में दिए गए विचार लेखक के निजि विचार हैं, इससे समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया प्रबंधन को सरोकार हो यह जरूरी नहीं है। स्वास्थ्य कॉलम में दी गई जानकारी को अपने चिकित्सक से परामर्श के बाद ही अमल में लाएं . . .

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *