पुलिस को मिलेंगे अत्याधुनिक हथियार

 

(ब्यूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। अपराधियों से निपटने के लिये पुलिस को अत्याधुनिक हथियारों से लैस किया जा रहा है। अब तक गुजरे जमाने की थ्री नॉट थ्री का उपयोग करने वाली सिवनी पुलिस को अब इंसास राईफल से लैस किया जा रहा है।

अंग्रेजों के जमाने की प्रमुख राईफलों में शुमार थ्री नॉट थ्री राईफल इतिहास की बात बनने के करीब पहुँच गयी है। थानों में तैनात सिपाहियों और हवलदारों के बाद अब केवल ड्रिल प्रेक्टिस उपयोग के लिये हेडक्वॉर्टर पहुँची थ्री नॉट थ्री राईफल का स्थान जल्द ही इंसास का उपयोग होगा।

पुलिस मुख्यालय से इसकी तैयारी चल रही है। सबसे पहले थानों पर तैनात सिपाहियों और हवलदारों को इससे लैस किया जा रहा है। आँकड़ों के अनुसार जिले के लगभग 50 फीसदी को उक्त राईफल से लैस किया जा चुका है। हाल ही में इंसास राईफल की एक खेप पुलिस मुख्यालय से हेडक्वॉर्टर सिवनी पहुँचा है, जिसको थाने में देने की प्रक्रिया चल रही है।

जिले में तेजी से बढ़ रहे लूट, डकैती, चोरी, छिनैती, हत्या व अन्य अपराधिक घटनाओं पर अंकुश लगाने में औसतन कमजोर दिख रही जिला पुलिस को अत्याधुनिक हथियार से सुसज्जित करने में पुलिस महकमा ध्यान दे रहा है। पखवाड़ेभर के अंदर पुलिस मुख्यालय से आये लगभग दो सौ इंसास राईफल को थानों पर भेजने की प्रक्रिया आरंभ कर दी गयी है।

कुछ थानों पर राईफल पहुँच चुकी है, जबकि कुछ को भेजने की प्रक्रिया चल रही है। पुलिस अधिकारियों के अनुसार थ्री नॉट थ्री राईफल व एसएलआर राईफल को विदड्राल (वापस) करने की तैयारी है। उसी के तहत अब इंसास सभी थानों में भेजी जा रही है। इससे ड्यूटी के दौरान जरुरत पर सिपाहियों और हवलदारों को फायरिंग करने में सुविधा रहेगी।

पुलिस लाईन सहित जिले के अलग – अलग थानों में 11 से 12 सौ के आसपास पुलिसकर्मी और अधिकारी तैनात हैं। इनमें लगभग छः सैकड़ा सिपाहियों और हवलदारों को राईफल प्रदाय की जाती है। शेष सिपाही और हवलदार की ड्यूटी दूसरे अन्य कार्यों में होती है। उक्त लगभग 600 में से 50 फीसदी पुलिस कर्मियों को इंसास राईफल मिल चुकी हैं, शेष को दिया जाना है। एएसआई से एसडीओपी तक को पिस्टल व रिवॉल्वर दिया जाता है।

पुलिस सूत्रों की मानें तो पुलिस के पास इंसास, एसएलआर 7.62, .38 एमएम रिवॉल्वर, 9एमएम पिस्टल, फाईव ग्लोक पिस्टल, गैस गन, बोल्ट एक्स गन सहित अन्य असलहें है। इसके अलावा पुलिस के पास पर्याप्त मात्रा में रक्षक स्प्रे, रबर बुलेट, 303 प्लास्टिक बुलेट, 7.62 प्लास्टिक बुलेट आदि है। वर्तमान में पुलिस के पास सबसे अधिक इंसास राईफल हो गयीं हैं। पुलिस अधिकारियों के मुताबिक जिले में पर्याप्त असलहे हैं। समय के साथ पुलिस अत्याधुनिक असलहों से लैस हो रही है।

अब पाईए अपने शहर की सभी हिन्दी न्यूज (Click Here to Download) अपने मोबाईल पर, पढ़ने के लिए अपने एंड्रयड मोबाईल के प्ले स्टोर्स पर (SAI NEWS ) टाईप कर इसके एप को डाऊन लोड करें . . .

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

समाचार एजेंसी डॉट कॉम में आपका स्वागत है 

App Downlod Link: Click Here 
App Downlod Link: Click Here 

%d bloggers like this: